यूपी फिर अस्सी के दशक में

                                                                     सहारनपुर की घटना के बाद यूपी में एक बार फिर से वही सब होता दिख रहा है जिसके लिए कभी वह जाना जाता था और आज हर शहर और गाँव में किस तरह से लगातार तनाव बढ़ता ही जा रहा है इस पर भी खुद समाज को कुछ करने की आवश्यकता है. हिंसाग्रस्त कोई भी क्षेत्र हो पर हर जगह पुलिस और प्रशासन की अक्षमता या ऊपर के अघोषित निर्देशों के चलते ही हालात बेकाबू हो जाते हैं और उसके बाद अजीब तरह से बयानबाज़ी भी शुरू कर दी…

Read More

केन्या में भारतीय इलाकों पर हमले

                                                           केन्या के लामू काउंटी और ताना रिवर इलाके में जिस तरह से सोमालिया से जुड़े अल क़ायदा के संगठन अल शबाब ने अंधाधुंध हमले कर २९ लोगों को मौत के घाट उतार दिया है उससे पूरी दुनिया में फैले हुए भारतीयों पर इस्लामी आतंकियों की नज़र होने का अंदाजा लगाया जा सकता है. हमलावरों का यह मानना है कि इन स्थानों में मुसलमानों की ज़मीनें छीनी जा रही हैं और वे ऐसा नहीं होने देंगें ? जिस तरह से दुनिया के विभिन्न देशों में इस तरह से भारत वंशियों…

Read More

सेना और राजनीति

                                                 आखिरकार चुनाव आयोग द्वारा रक्षा और अन्य सामरिक मामलों में की जाने वाली नियुक्तियों को आचार संहिता के बाहर बताये जाने के बाद मनमोहन सरकार ने तीन महीने पहले ही सेना के भावी नेतृत्व की घोषणा करने के काम को अंजाम दे ही दिया. इस पूरी घटना में जिस तरह से भाजपा द्वारा अनावश्यक रूप से बयानबाज़ी की गयी और चुनाव आयोग से भी इस सम्बन्ध में शिकायत की गयी उससे यही सन्देश गया जैसे नामित सेनाध्यक्ष पर कोई बहुत बड़ी तोहमत लगी हुई है और सरकार उन्हें इसके…

Read More