सर्जिकल स्ट्राइक और संसद

सर्जिकल स्ट्राइक के बाद से ही जिस तरह से देश में माहौल बना हुआ है उसके बारे में कहीं न कहीं से सरकार की संवेदनशीलता में कमी ही दिखाई दे रही है क्योंकि इतने सफल और महत्वपूर्ण प्रयास के बाद जिस तरह से देश में छिछले स्तर की राजनीति शुरू हुई उसकी कोई आवश्यकता भी नहीं थी पर संभवतः हमारा लोकतंत्र और नेता अभी इतने परिपक्व नहीं हुए हैं कि महत्वपूर्ण मुद्दों पर सही तरह से सामंजस्य बनाकर काम कर सकें. यह सही है कि सेना के काम में सदैव…

Read More

सर्जिकल स्ट्राइक पर राजनीति

देश में किसी भी मामले पर राजनीति करने और हर मामले पर राजनीति करने के नुस्खे खोजने की जो नयी परंपरा चल पड़ी है उससे भले ही कुछ समय के लिए राजनैतिक दलों को कुछ लाभ अवश्य मिल जाये पर आने वाले समय में इस तरह की घटिया राजनीति भारत के वैश्विक समूह में किसी भी देश के साथ संबध बनाने या बिगाड़ने का काम भी कर सकती है. सर्जिकल स्ट्राइक के बाद जिस तरह से देश के अंदर और बाहर दो तरह की बातें सामने आ रही हैं उन्हें…

Read More

कायरता की श्रृंखला

उरी में एक बार फिर से पाक समर्थित लश्कर द्वारा जिस तरह से सेना के कैंप पर सुबह हमला किया गया उसके बाद एक बात स्पष्ट हो गयी है कि पाक की तरफ से भारतीय कश्मीर में अलगाववाद को हवा देने में कोई कसर नहीं छोड़ी जा रही है और जब सीमा पर चौकसी के चलते उनके लिए घुसपैठ आसान नहीं रह जाती है तो वे इस तरह से छापामार तरीके से अपने फिदायीन हमलों को अंजाम दिया करता है जिससे कश्मीर अंतरराष्ट्रीय सुर्ख़ियों में लगातार बना रहे. किसी भी…

Read More