रिज़र्व बैंक- राजनीति और विकास का मॉडल

                                                                      नीतिगत मुद्दों पर मोदी सरकार के साथ शुरू से ही मतभेद रखने वाले रिज़र्व बैंक के गवर्नर रघुराम राजन ने एकबार फिर से सरकार की महत्वाकांक्षी योजना “मेक इन इंडिया” पर सीधे सवालिया निशान लगा दिया है. देश के नीति निर्धारक बैंक के प्रमुख होने के नाते राजन के पास उनके अनुभव के साथ वैश्विक मामलों में जानकारी तो है पर सरकार से इतनी असहमति अपने आप में एक बड़ी बात है क्योंकि आमतौर पर अभी तक सरकार के साथ रिज़र्व बैंक के अध्यक्ष के सुर मिले हुए ही…

Read More

ज़िम्मेदार पद और बयानबाज़ी

                                                    एक बार फिर से बड़बोले भाजपा नेताओं के बयानों के चलते सरकार को लोकसभा में असहज स्थिति का सामना करना पड़ा जबकि निरंजन ज्योति के मामले में अभी तक जारी गतिरोध को पूरी तरह से समाप्त करने में सरकार को कामयाबी नहीं मिल पायी थी. रविवार को कोलकाता की बहु चर्चित रैली में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने जिस तरह से स्पष्ट रूप से टीएमसी पर यह आरोप लगाया था कि शारदा घोटाले में काले धन का उपयोग देश विरोधी तत्वों के द्वारा किया गया और इससे बांग्लादेश के…

Read More

सुप्रीम कोर्ट और काला धन

                                                             काले धन पर सुप्रीम कोर्ट में चल रही सुनवाई में जिस तरह से सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को दो दिन पहले फटकार लगायी थी उसके बाद यह लगने लगा था कि इस मामला का हश्र भी कोयला आवंटन जैसा होने वाला है जिसमें सरकार की कोशिशों के बाद भी कुछ ब्लॉक्स छोड़कर सभी के आवंटन को रद्द कर दिया गया था और लगभग इसी तरह का रुख सुप्रीम कोर्ट ने २ जी मामले में भी अपनाया था जिसके बाद १२२ सर्किलों में स्पेक्ट्रम का आवंटन रद्द किया गया था.…

Read More