विधान-सभा चुनावों के निहितार्थ

                                                             इस साल चुनावों की कड़ी में आखिरी जम्मू और कश्मीर और झारखण्ड में जनता ने संभवतः अपने मन की उस इच्छा को भी दिखाया है जिसके चलते देश में लोकतंत्र लगातार मज़बूत होता जा रहा है. अपने जन्म के समय से ही राजनैतिक अस्थिरता का शिकार रहे झारखण्ड ने जिस तरह से इस बार लगभग एक तरफ़ा होते हुए भाजपा को सबसे बड़े दल के रूप में चुना है उससे यही लगता है कि अब झारखण्ड में विकास का पूरा दारोमदार उस पर ही आने वाला है क्योंकि अभी…

Read More

श्री केदारनाथ पुनरुद्धार

                                               उत्तराखंड आपदा पर देश में राजनेताओं की लगातार चल रही नौटंकी के बीच कांची के शंकराचार्य ने जिस प्रतिबद्धता के साथ श्री केदारनाथ के पुनरुद्धार की बात कही है उससे यही लगता है की यदि इस मामले में सारे फैसले चार धाम यात्रा समिति और उत्तराखंड सरकार द्वारा ही लिए जाएँ तो यह उचित होगा और इसके लिए जिस भी तरह के विशेषज्ञों की आवश्यकता पड़ने वाली है उनकी खुले दिल से पूरी मदद भी ली जानी चाहिए क्योंकि जितने बड़े पैमाने पर तबाही फैली है उसमें हर तरह…

Read More

अल कायदा और अफ्रीका

         पाकिस्तान में लगातार कमज़ोर होते जा रहे इस्लामी कट्टरपंथी समूह अल कायदा के बारे में अब यह ख़ुफ़िया सूचना मिली है कि वह उत्तरी अफ्रीका में अपना नया ठिकाना बनाने की फ़िराक में है. अभी तक जिस तरह से इस आतंकी संगठन ने पाकिस्तान को अपना स्थायी ठिकाना बनाया हुआ था उससे यही लगता है कि यहाँ पर बढ़ते दबाव ने उसे अपनी रणनीति में बदलाव करने को मजबूर कर दिया है जिस तरह से इस संगठन के शीर्ष आतंकी २०११ में मारे गए हैं उससे इसकी ताक़त में…

Read More