कश्मीर – पत्थरबाज़ी और अर्थव्यवस्था

कश्मीर घाटी में आतंकी अलगाववादियों के समूहों की तरफ से जिस तरह माहौल को लगातार बिगाड़ने का काम किया जा रहा है उसे देखते हुए वहां पर शांति अभी दूर की कौड़ी ही लगती है पर जिस तरह से राज्य सरकार में शामिल भाजपा के लिए परिस्थितियां मुश्किल होती जा रही है उससे राज्य के साथ देश की राजनीति पर भी पड़ने वाले असर को नकारा नहीं जा सकता है. अपनी चिरकालीन कश्मीर नीति से पीछे हटते हुए जिस तरह से मोदी और भाजपा ने राज्य सरकार में साझेदारी की…

Read More

वैचारिक अभिव्यक्ति और विभेद

अभी तक के स्थापित मानकों के अनुसार जिस तरह से यह समझा और कहा जाता कि शिक्षा बढ़ने के साथ मनुष्य का सामाजिक, आर्थिक और व्यक्तिगत विकास अच्छी तरह से हो सकता है पर पिछले कुछ दशकों में जिस तरह से अशिक्षितों के साथ शिक्षितों की मानसिक स्थिति भी एक जैसी ही होती जा रही है वह सम्पूर्ण मानव जाति के लिए आने वाले समय में एक खतरा बन सकती है. विश्व के कई देशों में इस्लाम के नाम पर चल रहे चरमपंथ को जिस तरह से उच्च शिक्षित लोगों…

Read More

महिला सम्मान पर भाजपा का असमंजस

कठुआ, उन्नाव और असम में हुए बलात्कार और उसके बाद होने वाली राजनैतिक नौटंकी में अपनी आंतरिक कलह के कारण आज सत्ताधारी भाजपा जिस भ्रम में दिखाई दे रही है यदि उससे बाहर निकलने का रास्ता पार्टी के शीर्ष नेतृत्व द्वारा नहीं खोजा गया तो २०१९ की उसकी संभावनाओं पर दुष्प्रभाव पड़ने की सम्भावनों से इंकार नहीं किया जा सकता है. कठुआ और उन्नाव में जिस तरह से भाजपा के नेता और पार्टी आरोपियों के साथ खड़े दिखाई दिए उससे सीधे तौर पर भाजपा के उस दावे का खोखलापन सामने…

Read More