कश्मीरी पंडित और घाटी

कश्मीर के मुद्दे पर स्थलीय परिस्थितियों को समझे बिना ही जिस तरह से केंद्र और जम्मू कश्मीर सरकार की तरफ से अनावश्यक बयानबाज़ी होती रही उसके बाद ही पिछले वर्ष घाटी में अलगाववादियों को एक बार फिर से अपने मंसूबों को पूरा करने लायक माहौल बनाने में काफी मदद मिली थी जिसका असर पिछले वर्ष घाटी में लगातार होने वाले उग्र प्रदर्शनों में भी दिखाई दिया था. इससे पहले होने वाले अधिकांश प्रदर्शन कुछ दिनों में ही समाप्त हो जाते थे पर इस बार कश्मीरियों को अलगाववादी यह समझाने में…

Read More