सोशल मीडिया और समाज

देश में जिस तरह से बढ़ते हुए इंटरनेट के प्रसार से आम लोगों तक सूचनाएं पहुंचनी शुरू हो चुकी हैं वहीं इस तीव्र माध्यम का दुरूपयोग कर समाज में वैमनस्यता फ़ैलाने के लिए भी किया जा रहा है. धार्मिक, सामाजिक, भाषाई और राजनैतिक आधार पर जिस तरह से देश के किसी न किसी हिस्से में बिना सोचे समझे तनाव बढ़ाने वाले लोग सक्रिय हो चुके हैं उनसे निपटने का कोई कारगर तरीका सरकार, पुलिस या प्रशासन के पास नहीं है. ऐसी किसी भी परिस्थिति में सबसे बड़ी ज़िम्मेदारी आम नागरिकों…

Read More

समग्र कृषि नीति की आवश्यकता

म० प्र० और महाराष्ट्र में किसानों की तरफ से शुरू किया गया असहयोग आंदोलन मंदसौर में हिंसक होकर ५ परिवारों के लिए अँधेरे लेकर ही आया और अब इस पर सीधे आरोप प्रत्यारोपों के साथ, मीडिया और सोशल मीडिया पर सरकार समर्थक और विरोधी एक दूसरे को गलत साबित करने में लगे हुए हैं. जहाँ तक मंदसौर की बात है तो यह इलाका हर प्रकार से संपन्न और शांत ही माना जाता है और यहाँ से कभी भी किसी भी प्रकार के हिंसक आंदोलनों की लगातार होने वाली घटनाएं भी…

Read More

कश्मीर – मोदी को नयी चुनौती

लम्बे असंतोष के बाद जिस कश्मीर की तरफ देशी विदेशी पर्यटक रुख करने लगे थे पिछले दो सालों में वहां किस तरह की परिस्थितियां उत्पन्न हो गयी हैं केंद्र और जम्मू कश्मीर सरकार के लिए आज इस विषय पर गंभीरता से सोचने का समय आ गया है क्योंकि अलगाववादियों के आह्वाहन पर घाटी में बंद बहिष्कार एक सामान्य सी घटना बन चुकी थी जिसमें उन दिनों को छोड़कर घाटी पूरी तरह से सामान्य ही रहा करती थी। दुनिया जानती है कि पाकिस्तान घाटी में मुसलमानों की जनसँख्या के आधार ओर…

Read More