दवा मूल्य नियंत्रण और यथार्थ

देश में आवश्यक दवाओं के मूल्यों को उचित दरों पर बेचे जाने के लिए समय समय पर जारी किये जाने वाले ड्रग प्राइस कण्ट्रोल ऑर्डर्स (डीपीसीओ) के माध्यम से निश्चित तौर पर रोगियों को सस्ती दवाओं का विकल्प मिलना शुरू हो गया है पर जिस तरह से एक बार सूचीबद्ध किये जाने के बाद सरकार और मूल्य नियंत्रण प्रणाली को देखने वालों की तरफ से दोबारा इस बात पर कोई विमर्श ही नहीं किया जाता है कि निर्धारित की गयी दवाएं बाजार में अब किस मूल्य पर उपलब्ध हो रही…

Read More

विधान-सभा चुनावों के निहितार्थ

                                                             इस साल चुनावों की कड़ी में आखिरी जम्मू और कश्मीर और झारखण्ड में जनता ने संभवतः अपने मन की उस इच्छा को भी दिखाया है जिसके चलते देश में लोकतंत्र लगातार मज़बूत होता जा रहा है. अपने जन्म के समय से ही राजनैतिक अस्थिरता का शिकार रहे झारखण्ड ने जिस तरह से इस बार लगभग एक तरफ़ा होते हुए भाजपा को सबसे बड़े दल के रूप में चुना है उससे यही लगता है कि अब झारखण्ड में विकास का पूरा दारोमदार उस पर ही आने वाला है क्योंकि अभी…

Read More

आरिफ मजीद और भारतीय मुस्लिम

                                                        इराक में आईएस के लिए जिहाद में शामिल रहने वाले मुंबई के कल्याण निवासी आरिफ मजीद का भारत वापस आना एक महत्वपूर्ण घटना है पर इस मामले से एनआईए और गृह मंत्रालय को बहुत ही संवेदनशील पर कानूनी तौर पर कठोर नियमों से निपटने की आवश्यकता है. आखिर मुंबई में रहने वाले ये तीन आम युवक किस तरह से आईएस के चंगुल में पहुंचे इस बात की जानकारी खोजने और उन तत्वों तक पहुँचने की आज देश की एजेंसियों को बहुत ज़रुरत है. इस मामले में आरिफ के परिवार…

Read More