कायरता की श्रृंखला

उरी में एक बार फिर से पाक समर्थित लश्कर द्वारा जिस तरह से सेना के कैंप पर सुबह हमला किया गया उसके बाद एक बात स्पष्ट हो गयी है कि पाक की तरफ से भारतीय कश्मीर में अलगाववाद को हवा देने में कोई कसर नहीं छोड़ी जा रही है और जब सीमा पर चौकसी के […]
Continue reading…

 

मेरी राय अब मेरी वेबसाइट पर

समाचार पत्रों में १९८६ से ही संपादक के नाम पत्र लिखने की आदत जो बदलती हुई प्राथमिकताओं में भी लगातार बनी ही रही वह ब्लॉग के प्लेटफॉर्म के मिलने के बाद २००८ से लगातार लिखने को प्रेरित भी करती रही। इन बीते आठ सालों में देश दुनिया के सामने आने वाले ताज़ा मुद्दों पर अपनी […]
Continue reading…

 

सेना और सोशल मीडिया

                                                                देश में बाह्य कारणों से काफी लम्बे समय से अशांत आंतरिक क्षेत्रों में जिस तरह से सोशल मीडिया के माध्यम से सेना पर आरोप लगाने का एक नया क्रम शुरू हुआ है सेना भी उससे भलीभांति परिचित है और इसी सम्बन्ध में एक बार फिर से सेना की तरफ से सभी सैन्य कर्मियों को […]
Continue reading…