कुछ सीधा पर खरा

इस ब्लॉग के बारे में बस कुछ खास तो नहीं सोचा था पर समाज देश और विश्व में होने वाली बहुत सारी घटनाएँ कुछ ऐसा छुपाये रहती हैं जो खुल कर कभी कहा नहीं जाता ….. बस मन की कल्पना ने कुछ लिखने की तरफ मुड़ जाना ठीक समझा… आप ही देखें और पढें कि वास्तव में यहाँ कुछ सीधा और खरा है क्या ?

Leave a comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *