फालसे के औषधीय गुण

दिमाग के लिए फायदेमंद

अगर याद्दाश्त कमजोर होती जा रही है तो फालसे का रस पिएं। फालसे में मौजूद विटामिन सी और लौह दिमाग में खून का संचालन बढ़ाता है। इससे मस्तिष्क संबंधी समस्या ठीक होती है। इसके लिए रोज नाश्ता करने के बजाय फालसे का रस पिएं। खाली पेट पीने से ज्यादा फायदा करता है।

फुंसी-फोड़े ठीक करे

यह गर्मी में होने वाले फुंसी-फोड़े से भी निजात देता है। किसी भी तरह के फोड़े-फुंसी (खासकर जो गर्मी में निकलते हैं), त्वचा में जलन या त्वचा का छिलना, चकते पड़ना आदि में फालसा की पत्तियों को रात भर भिगोने के बाद पीस कर लगाएं। इससे इन सब समस्याओं में फायदा होता है।
पेट दर्द से निजात

पेट दर्द की समस्या में फालसा फायदेमंद साबित हो सकता है। दर्द के इलाज के लिए भुनी हुई 3 ग्राम अजवायन में 25 से 30 ग्राम फालसे के रस को डालकर थोड़ा सा गर्म करें। गुनगुना होने पर इस मिश्रण को पिएं। पेट दर्द में आराम मिलेगा। ये सांस की समस्या, कफदोष, हिचकी आदि भी ठीक करता है। फालसे की तासीर ठंडी होती है, ऐसे में यह शरीर को ठंडा रखता है। पेट दर्द में इसे लेना काफी फायदेमंद हो सकता. गर्मियों के दिनों का लोकप्रिय फल फालसा अपने खट्टे-मीठे स्वाद के कारण काफी पसंद किया जाता है। इसकी तासीर ठंडी होने की वजह से गर्मी में ये शरीर को ठंडा रखता है।

खून साफ करे
लू लगने से बचाए
फालसा रोज लेने से खून से जुड़ी सारी परेशानियां दूर हो जाती हैं। फालसे में मौजूद विटामिन सी शरीर में लोहे का अवशोषण करने में सहायक होता है जिससे शरीर में खून साफ होता है और रक्त के विकार की समस्या ठीक होती है। एक महीने तक इसे खाने से बीपी और कोलेस्ट्रॉल का स्तर कंट्रोल हो जाता है, जिससे दिल से जुड़ी कई बीमारियों का खतरा कम हो जाता है। फालसा खनिज लवण जैसे एंटीऑक्सीडेंट, मैग्नीशियम, फास्फोरस, कैल्शियम, पोटैशियम, सोडियम, आयरन से भरपूर होता है। इन खनिज लवणों के कारण ये गर्मी के मौसम में लू लगने से बचाता है और अचानक होने वाले बुखार का इलाज करता है। इससे मचली, उल्टी और घबराहट जैसे लक्षणों में आराम मिलता है। रोज नाश्ते में इसे खाने से चिड़चिड़ापन दूर होता है। अगर धूप से एलर्जी की समस्या है तो ये उसका कारगर इलाज करता है।

Related posts