आइये जानते हैं सहजन के गुण

सहजन के बारे में तो हम सभी जानते हैं। इसका वैज्ञानिक नाम मोरिंगा ओलिफेरा (Moringa Oleifera) है। सहजन की फली की सब्जी लगभग हर घर में बनती है। खाने में तो इसका स्वाद सबको खूब भाता है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि इस फली और इसके पेड़ के भी स्वास्थ्य के लिए कई फायदे हैं। इनमें प्रोटीन, अमीनो एसिड, बीटा कैरोटीन और विभिन्न फीनॉलिक होते हैं। इन पत्तियों को ताजा या पाउडर के रूप में भोजन के पूरक के रूप में उपयोग किया जा सकता है। सहजन के पौधे में जड़ से लेकर सहजन के फूल, पत्तियों तक सेहत के गुण भरे हुए हैं.

सहजन के पत्तों का पेस्ट घाव पर लगाया जाता है और इसे सब्जी के रूप में खाने से सिर दर्द में राहत मिलती है। साथ ही सहजन के सेवन से खून साफ होता है, आंखों की रोशनी तेज होती है। सहजन की फली का सेवन करने से गर्भवतियों को डिलिवरी के वक्त ज्यादा दर्द नहीं होता है। साथ ही इसका काढ़ा पीने से घबराहट, चक्कर आना, उल्टी में भी राहत मिलती है। सहजन का पेड़ की पत्तियों में कई औषधीय गुण पाए जाते हैं, जिससे यह कई प्रकार के नेत्र रोग, मोच, गठिया जैसी बीमारियों के लिए फायदेमंद होता है। इसे गर्भवती महिलाओं को देने से उनके होने वाले बच्चों में कैल्शियम की मात्रा भरपूर मिलती है और होने वाला शिशु तंदुरस्त होता है। मोटापा और शरीर की बढ़ी हुई चर्बी को दूर करने के लिए सहजन को एक लाभदायक औषधि माना गया है। इसमें फास्फोरस की मात्रा पाई जाती है जो कि शरीर की अतिरिक्त कैलोरी को कम करती है और साथ ही वसा को कम कर मोटापा कम करने में सहायक होती है।

Related posts